Introduction of Accounting in Hindi– एकाउंटिंग का परिचय :-

Introduction of Accounting in Hindi – एकाउंटिंग का परिचय :-

              अगर आप ज़्यादातर बाहर रहते हैं तो ‘Accounting’ word आपने ज़रूर सुना होगा, और यह सुनते ही शायद यह सोचते होंगे कि Accounting काफी मुश्किल और boring subject है, पर अच्छी ख़बर तो यह है कि यह पूरी तरह सही नही है। Accounting थोड़ा interesting subject भी है। In fact Accounting में ज़्यादातर हिस्सा हमें यह सीखने को मिलता है कि हम किसी भी field में और पैसे कैसे कमा सकते हैं।

what is accounting by accounting seekho

                जैसा कि आप जानते हैं business चाहे छोटा हो या बड़ा उसमे न जाने कितने transactions होते रहते हैं, और इन सभी transactions को note करने के लिए, उनका record रखने के लिए हमें Accounting की ज़रूरत पड़ती है। पहले manual accounting की जाती थी जिसमें एक register में अपने accounts का लेखा-जोखा रखा जाता था, पर आज वक़्त के साथ-साथ सब कुछ बदल गया है। आज दुनिया आगे बढ़ चुकी है, आज कल सारी accounting Computers में अलग-अलग Accounting Software की help से की जा रही है। जैसे – Tally या फिर इसी तरह के और भी Accounting Software को use करके अपने Accounts को काफी अच्छे से maintain और उसे manage कर सकते हैं। आज Accounting के बिना possible ही नही है कि कोई अपने business को smoothly अच्छे से चला सके। अब तो Professional Way में Accounts को maintain किया जाता है।

इसे हम एक बहोत ही Easy example के through समझ सकते हैं –

                  कोई एक person है जो business करना चाहता है,वह खुद की कोई एक new shop open करना चाहता है,तो इसके लिए वह सबसे पहले कोई shop setup करेगा मतलब rent पर लेगा, फिर उसके बाद वह whole seller और publisher से contact करेगा, उसे अपनी उस shop का advertisement कराने की भी ज़रूरत पड़ेगी ताकि लोग उसकी शॉप के बारे में जान सकें,इसमें Lights वग़ैरह के भी expenses होंगे फिर किसी employee को रखेगा जिसे salary भी pay करनी होगी। Publishers से Books को purchase करना, उसे customers को sell करना, इस तरह की बहोत सारी activities होंगी।

अब यहाँ यह समझना ज़रूरी है कि –

                 अब इसने  ये जो Book Shop open किया है वह यह ज़रूर जानना चाहेगा कि मेरा business कैसा चल रहा है? इसमें Profit हो रहा है या नहीं, मेरे कितने expenses हुए, और अगर correct Profit का पता लगाना है कि Actual Profit कितना हुआ? तो उसे सारी चीज़ों की Detail रखनी ही होगी कि उसने कितने लोगों से सामान उधार Purchase किया है उन्हें अभी Pay भी करना है,कितने Customers हैं जिन्हें उधार sell किया है और उन्होंने अभी तक पैसे नहीं लौटाये हैं, इसके अलावा Lights के Bill pay करना, Travelling के expenses, time-to-time Advertisement कराने के खर्चे, और भी इसी तरह के expenses जो business में हुए हैं और इन सबको याद रखना possible नहीं है।

                इसलिए ये सारी चीज़ों को Note करना बहोत ज़रूरी होता है या इन्हें Record करना ज़रूरी हो जाता है, इसलिए Accounting की ज़रूरत पड़ती है जिसमें हम अपने सारे Financial Transactions को record करते हैं, तो जैसे-जैसे transactions होते जाते हैं वैसे-वैसे हम उसे record करते जाते हैं, तो अब बात आती है कि इसे हम record कहाँ करते हैं? अब इसे हम आगे discuss करेंगे। यह एक Introduction था ( Introduction of accounting in Hindi ) ताकि आप Accounting के बारे में थोड़ा समझ सकें। आगे हम Accounting की meaning उसकी definition और उसकी importance के बारे में समझेंगे।

What is accounting in Hindi – एकाउंटिंग क्या है? Click Here

Click Here to Follow Accounting Seekho On Facebook

Leave a Reply

%d bloggers like this: