Meaning Of Promissory Note In Hindi – वचन पत्र

Hello दोस्तों ! Accounting Seekho में आपका स्वागत है। आज के इस article में हम जानेंगे “Meaning Of Promissory Note In Hindi” के बारे में कि यह कैसा document होता है? इसे क्यों बनाया जाता है? इसमें कौन-कौन सी parties involve होती हैं (Parties Involve In Promissory Note) इसके features (विशेषताएँ) क्या होते हैं? (Features Of Promissory Note)

इसके अलावा अलग-अलग topic से related बहोत से article पहले से ही हमारी website पर हैं, आप चाहें तो उन्हें भी पढ़ कर अच्छे से समझ सकते हैं, तो आइये सबसे पहले जानते हैं Meaning Of Promissory Note In Hindi के बारे में।

Meaning Of Promissory Note In Hindi –

दोस्तों Bills Of Exchange की ही तरह एक और document होता है जिसे Promissory Note कहते हैं। Bills Of Exchange में हम समझे थे कि यह Bill Of Exchange विक्रेता अर्थात seller बनाता है, पर यहाँ promissory note को seller नहीं बल्कि जो purchaser होता है जो goods को उधार में खरीद रहा है वह खुद ही एक bill बनाकर seller को देता है जिसमें वह यह वादा करता है कि उसकी amount एक fix date पर pay करेगा।

Definition Of Promissory Note In Hindi –

“A Promissory Note is an instrument in writing (not being a bank note or a currency note) containing an unconditional undertaking signed by the maker to pay a certain sum of money to, or to the order of, a certain person.”

(“यह Promissory Note लिखित में एक ऐसा instrument होता है जो न कोई बैंक नोट और न ही कोई currency है। इसमें कोई condition नहीं होती है। इसे बनाने वाला जो maker होता है वह goods उधार में खरीदते वक़्त seller को यह bill लिखकर उससे यह वादा करता है कि वह उस goods की amount कुछ दिन या महीने बाद pay करेगा और इस पर अपनी sign करके seller को दे देता है तो इसी को हम “Promissory Note” कहते हैं।)

Parties Involve In Promissory Note –

Promissory Note में दो party involve होती हैं – एक Maker और दूसरा Payee

1 – Maker

Maker वह person होता है जो Promissory Note को लिखता है और उस पर अपनी sign करता है।

2 – Payee

Payee उसे कहते हैं जिसके ऊपर bill लिखा जाता है, जो payment receive करेगा।

Features Of Promissory Note –

1 – यह हमेशा लिखित में होना चाहिए।

2 – जो party Promissory Note बना रही है उसकी तरफ से उस particular amount of money के regarding जो amount उसे pay करनी है उसके लिए एक promise होना चाहिए।

3 – जो भी amount buyer को pay करनी है वह amount उस document पर लिखी होनी चाहिए कि कितने amount का payment करना है?

4 – Promissory Note को जो लिखता है जो promise करता है या जो उसका maker होता है उसके उस document पर sign ज़रूर होने चाहिए।

5 – अब किसे payment करनी है यह भी ज़रूर mention होना चाहिए यानी उस payee का नाम उस पर लिखा होना चाहिए।

6 – अब promissory note में जो value दी हुई है उसके according उस document पर stamping होनी चाहिए। यह बहोत ज़रूरी है।

दोस्तों आज के इस article में इतना ही,उम्मीद करता हूँ आपको यह article पसन्द आया होगा। अब आप समझ गए होंगे कि Promissory Note का क्या मतलब होता है? Meaning Of Promissory Note? इसमें कौन-कौन सी parties होती हैं? Parties Of Promissory Note और इसकी क्या-क्या विशेषताएँ होती हैं? Features Of Promissory Note इस article को Facebook या Whatsapp के through अपने दोस्तों को भी Share करें।

अगर आप हमारी Website Accounting Seekho की Latest Update पाना चाहते हैं या ऐसे ही और helpful article पढ़ना चाहते हैं तो हमें ज़रूर follow करें। इसके लिए आप हमारे Facebook Page को Like कर सकते हैं ताकि New Article की Notification आपको मिलती रहें और Comment Box में ज़रूर बताएं कि यह post आपको कैसी लगी? हमारे इस article को अपना कीमती समय देकर पढ़ने के लिए धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: