Who is Auditor & Its Qualities in Hindi? -अंकेक्षक किसे कहते है ?

Auditor (अंकेक्षक)

Auditing का जो काम करता है उसे हम Auditor कहते हैं। यह एक Independent person होता है जिसे Company या Organization के द्वारा बाहर से appoint किया जाता है। बाहर से मतलब यह है कि यह किसी Company का Employee या Accountant नहीं होता है। यह एक C.A.(Chartered Accountant) होता है, जिसके पास degree और certificate होता है। इसे Company के Shareholders hire करते हैं और यह Auditor उनकी Company के सारे Accounts Book और Financial Statement की checking करता है, और उसे अपनी Report में बताता है कि वे सही से prepare किये गए हैं या नहीं। Auditing की यह जो process होती है वह काफी मुश्किल होती है और इसे अच्छे से पूरा करने के लिए एक Auditor के अन्दर कुछ special qualities का होना बहोत ज़रूरी है तभी वह Auditing का काम अच्छे से कर सकता है, सारे Accounts को अच्छे से Check कर सकता है और Company को अच्छी Report भी present कर सकता है।

who is auditor by Accounting Seekho

Qualities of an Auditor (एक अंकेक्षक के गुण)

एक Auditor की Qualities को हम 2 Part में बाँटते हैं जिसके अन्दर उसकी और भी qualities आती हैं, इस तरह हम इसे और अच्छे से समझ सकते हैं –

(a) Acquired Knowledge (उपार्जित ज्ञान)

1. Knowledge of Book-keeping and Accountancy (पुस्तपालन एवं लेखाकर्म का ज्ञान)

Business के जितने भी transactions होते है वो Accounts के Rules and Regulations के basis पर record किये जाते हैं। इसलिए Auditor को Accounts के सारे Rules and Regulations के बारे में अच्छी knowledge होनी चाहिए, जिससे वह Company की हर छोटी-बड़ी गलतियों को ढूंढ सके और उसके Owner को उसके बारे में बता सके। इसे Book-keeping और Accountancy की अच्छी knowledge होनी चाहिए तभी वह उसमें होने वाली गलतियों को पहचान सकता है।

2. Knowledge of Business Techniques (व्यावसायिक तकनीकों का ज्ञान)

हर-एक business की अलग-अलग technique होती है अलग- अलग method होते हैं transactions को record करने के। एक Auditor हर तरह के business के Accounts Book की checking करता है इसलिए यह ज़रूरी है कि Auditor को हर-एक उस technique के बारे में जानकारी होनी चाहिए जो अलग-अलग business के द्वारा अपनायी जाती हैं, तभी वह अपने कामों को अच्छे से कर सकता है।

3. Knowledge of Business Organization (व्यवसाय संगठन का ज्ञान)

एक Auditor को business के अलग-अलग aspect या pattern के बारे में knowledge होनी चाहिए। जैसे एक company के लिए अलग-अलग register रखना ज़रूरी होता है और Profit and Loss Account और Balance Sheet बनाना compulsory होता है लेकिन Sole Proprietor या Partnership में यह ज़रूरी नही है। इसी तरह अलग-अलग business organization के लिए अलग-अलग documents होते हैं।

4. Knowledge of Business Laws (व्यावसायिक अधिनियमों की जानकारी)

Auditor की एक और quality यह है कि उसे व्यावसायिक अधिनियमों के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए जैसे – Contract Act, Income Tax Act, Sales Tax Act, Factory Act, Partnership Act, Company Act etc. इन सभी अधिनियमों के बारे में सही जानकारी होगी तभी वह अपनी responsibilities और duties को follow कर सकता है उसे अच्छे से पूरा कर सकता है।

5. Knowledge of Other Subjects (अन्य विषयों की जानकारी)

एक Auditor की ये जो ऊपर सारी qualities दी गयी हैं इन सभी के अलावा भी उसे कुछ विषयों का जानकार होना चाहिए जैसे- Financial Management, Production Management, Material Management, Factory Organization, Statistics etc.

Acquired knowledge  में एक Auditor को इन सारी चीज़ों के बारे में अच्छी knowledge होनी चाहिए तभी वह Auditing के काम को अच्छे से कर सकता है।

(b) Born Qualities (जन्मजात गुण)

1. Honesty (ईमानदारी)

Honesty एक Auditor की बहुत ही important quality है और अगर वह अपनी duties को अच्छे से पूरा करना चाहता है तो उसे यह ईमानदारी को हमेशा बनाये रखना चाहिए। Auditing करते वक़्त जो चीज़ें उसे सही नहीं लगती हैं उसे कभी certified नहीं करना चाहिए।

2. Independent and Fearless (स्वतन्त्र और निर्भीक)

एक Auditor को independent और fearless होना चाहिए। उसे management के दबाव में आकर कोई काम नहीं करना चाहिए क्योंकि अगर वह Auditor किसी के दबाव में आकर कोई काम करेगा तो वह उनकी गलतियों को सबके सामने नहीं ला पाएगा।

3. Efficient (कार्यकुशल)

Auditor की एक quality यह है कि उसे कार्यकुशल होना चाहिए ताकि अलग-अलग situation में वह transactions की checking कर सके। कार्यकुशल होने से वह company के staff से अपने questions के सहारे उन facts के बारे में भी पता कर लेगा जिनकी जानकारी उसे नहीं दी गयी है।

4. Tactful (चतुर)

एक Auditor को चालाक भी होना चाहिए क्योंकि Auditing की process में बहोत सी problems आती रहती है जिन्हें tactfully solve करना ज़रूरी होता है।

5. Patience (धैय)

एक Auditor की बहोत ही important quality है कि उसके अन्दर patience होना चाहिए। उसे जल्दबाजी में कोई काम नहीं करना चाहिए या कोई steps नही उठाने चाहिए। यह possible है कि Auditing का work थोड़ा मुश्किल होता है और थका देने वाला भी होता है, errors जल्दी नही मिलती हैं, फिर भी उसे धैयपूर्वक काम करना चाहिए।

6. Ability to Correct Oneself (भूल सुधारने की क्षमता)

एक Auditor के द्वारा अगर कोई भूल हो जाती है तो उसे correct करने की क्षमता होनी चाहिए। अगर उसे कुछ बातें या कुछ points समझ मे ना आएं तो उसे बार-बार पूछ कर clarify करना चाहिए।

7. Ability to Write Report (प्रतिवेदन लिखने की क्षमता)

एक Auditor की last quality यह है कि वह Auditor एक Clear and Effective Report present कर सके। Audit Report तैयार करना भी एक art है जो बराबर practice और experience से ही possible हो पाती है। Report में ऐसे words का use नहीं करना चाहिए जिनकी कई meanings निकलती हों

इस तरह एक Auditor के अन्दर ये सारी qualities होनी चाहिए तभी वह अपने सारे काम को अच्छे से पूरा कर सकता है, अच्छे से सारे Accounts की checking कर सकता है और एक Clear and Effective Report present कर सकता है।

तो इस पोस्ट में मैंने आपको ये बताया कि – Who is Auditor? Qualities of an Auditor (in Hindi) Auditor कौन होता है? इसकी क्या-क्या qualities होती हैं? उम्मीद करता हूँ आपको समझ में आया होगा। इससे पहले मैंने Meaning and Definition of Auditing और Objectives of Auditing के बारे में भी बताया है। इसके अलावा अगर आप Financial Accounting और Cost Accounting के बारे में भी जानना चाहते हैं तो  Click करके उसे भी अच्छे से समझ सकते हैं।

Thank You !

Click Here to Follow Us on Facebook 

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: